Best True Sad Shayari with Image

एक अरसे से जख़्म छुपाए बैठा था
तुमने उसे हरा कर दिया
कुरेद कर मेरे ज़ख्मो को तुमने
आज मुझे लहू लुहान कर दिया

क़भी ख़ुशी से ख़ुशी की तरफ़ नहीं देखा
जानाँ तुम्हारे बाद किसी की तरफ़ नहीं देखा

मिल गई तस्सली पड़ गई ठडक
लो हमनें कर दिया तुम्हारे दिल
के जैसा जानाँ
अब तो तुम ख़ुश होना मेरी जानाँ

Best true sad shayari image download

कहते है कब्र मे सुकून की नींद आती है!
अजीब बात है ये बात भी जिंदा इंसानों ने कही है!

Best true Sad shayari
Best true Sad shayari

जिनका मिलना मुकदर मे नही होता,
उनसे मोहबत कमाल की होती है!

ना दिखावे की दोस्ती चाहिए, ना दिखावे की मोहबत,
करो तो दिल से करो,
वरना वक़्त जाया मत करो.!

जिनकी नज़रों में हम बुरे हैं
वो नेत्रदान कर सकते हैं

बदनामियों का हमें मलाल नहीं
यार हम किसी के गुलाम नहीं
जो आता हैं तोड़ जाता है
यार हम कोई सामान नहीं

वो जो जगहा जगहा मेरी बदमानी करता हैं
वो फ़रेबी हैं धोखेबाज़ हैं सब झूठ बताता हैं
कितनो को बदनाम करेगा तू अंगार लगाएगा
तू कितना बड़ा झूठा हैं ये सामने आएगा
तूने बहोत बदनाम किया हैं मुझे
जा तू भी बदनाम किया जाएगा
जा तू भी बदनाम किया जाएगा

कितनो को तूने बदनाम किया
मेरी तरहा उनके साथ भी किया
दिल में तेरे कोई खौफ़ नहीं हैं
तूने सब को कितना रुलाया
तू बेशर्म है तुझे शर्म नही आएगी
तू अपनी हरकतों से कब बाज आएगा
तू कितना बड़ा झूठा हैं ये सामने आएगा

तूने बहोत बदनाम किया हैं मुझे
जा तू भी बदनाम किया जाएगा
जा तू भी बदनाम किया जाएगा

तेरी खाई हुई तेरे सर की झूठी कसमें,
मुझे अब अक्सर बीमार रखती है!.

सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप,
तारीफ कभी पुरी ना हो इतने प्यारे हो आप,
आज पता चला कि जमाना क्यों जलता है हमसे,
क्यों कि दोस्त तो आखिर हमारे हो आप…✔️

जिस जगह से कोई लौट कर नही आता
आज़ ना जाने क्यूं
वहा जाने का दिल कर रहा है!.

बदनामी के डर से छोड़ा नहीं करते
मुसाफिर कहीं भी रुका नहीं करते
मंज़िल को पाने का जुनून हो जिन में
वो किसी के सामने झुका नहीं करते

वो जो कर रहे हैं तो करने दो
लोग देख रहे है तो देखने दो
हमे क्यू चुप करा रहे हो तुम
वो जो कह रहे हैं तो कहने दो

जानाँ तुम कही नही जाना
बड़ा ख़राब हैं ज़माना
ये अपना घर तुम इसमें रहना
मुझसे पूछे बिना कही नही जाना

Best true Sad shayari
Best true Sad shayari

क्यू ख़ामोश ख़ामोश हो तुम आज
कुछ तो कहो न तुम
कान तरस रहे हैं आवाज़ सुनने को
यार कुछ तो बोलो तुम

आग़ोश में लो तो बात बने
तुम बात करो तो हम सुने
हर बात पर क्यू रूठते हो
तुम हसाओ तो हम हँसे

heart touching shayariEmotional Shayari
Haryanvi Statusbewafa shayari

दम तोड़ ही जाऊंगा,बहुत जल्द मैं..
क्यों वक्त से पहले देती हो मरने की वजह तुम..

राहें प्यासी हैं तेरी आहट के लिए
निगाहें तरसती हैं तेरी झलक के लिए
समझ नहीं आता ये तेरी तलबगार क्यों है
के मुझे तुझसे इतना प्यार क्यों है

सब होता है तुमारे बगैर,
बस एक गुजारा नहीं होता।

सब होता है तुमारे बगैर,
बस एक गुजारा नहीं होता।

उसकी नाराजी भी उसकी दीवानगी की तरह है
मैं किसी को पार नहीं कर सकता

हुस्न वालों को क्या जरूरत है संवरने की
वो तो सादगी में भी क़यामत की अदा रखते हैं|

वक़्त मिले तो मेरे घर तक चले आना कभी…
तेरी खुश्बू के मोहताज़ मेरे गुलदस्ते आज भी हैं…!!!

ये सोच के दिल मेरा जोरो से धड़कता हैं
किसी और के छत पर क्यू मेरा चाँद चमकता हैं
हम डूब गए जानाँ आँखों के पानी में
जाने वो कैसे लोग थे जिनको किनारा मिला

अगर लगता हैं तुम्हें गलत हु मैं
हा सही तो तुम थोड़ा अलग हु मैं

ज़िंदगी से लढना पड़ता हैं
हालात को समझना पड़ता हैं
यू ख़ामोश रहने से क्या होगा
बातों को समझना पड़ता हैं

हमारा उभरना अब हैं बहोत मुश्किल
तुमने तो मुझे अब कही का न छोड़ा
हमने चराग़ लेकर रास्ते छान डाले हैं
लेक़िन ख़ुद के क़ाबिल किसी को पाया नहीं

कहते हैं ढूढो तो रब भी मिल जाता हैं
लेक़िन हाय नसीब हमारा हमे कोई नहीं मिला

हर वक़्त बस अँधेरा छाया हुआ हैं
चाहे दिन रहे या रात रहे
बर्बाद हैं हम यारों औऱ बर्बाद ही रहेंगे

मुझे अपने मुक्कदर से एक शिकायत हैं
क्या बात हुई जो मुझे तुमने बदनाम किया

ठोकरों से मैं बिखर नहीं सकता
चोटों से मैं डर नहीं सकता
मैं समंदर हूँ समंदर
नदी में जा कर मैं मिल नहीं सकता

ज़िस्म औऱ रूह का झगड़ा हुआ हैं
के इश्क़ में हिस्सा बड़ा किसका हैं

ख़ुदा तेरा भला करे तू मुझे समझता हैं ग़ैर
चल आँखों में आँखें डाल औऱ कर ले सैर

जिस तरह पैदा हुए उस से जुदा पैदा करो
ख़ुद को अपनी ख़ाक से बिल्कुल नया पैदा करो

Best true Sad shayari
Best true Sad shayari

शहर के इन आइना-ख़ानों में फिरना है फ़ुज़ूल
चाहिए चेहरा तो अपना आइना पैदा करो

यार सज्दों का भी कुछ मेआ’र होना चाहिए
पहले जा कर ढंग का कोई ख़ुदा पैदा करो

इस हुजूम-ए-शहर में उस तक पहुँचना है मुहाल
अब तो अंदर ही से कोई रास्ता पैदा करो

ताकि इक घर में रहे तो दूसरा महफ़िल में हो
‘इरफ़ान अलाउद्दीन’ अपने जैसा दूसरा पैदा करो

दिल का सहरा जल रहा हैं
कि दरिया यहाँ मचल रहा हैं
तुम्हें फ़ुर्सत मिले तो देख लेना
यहाँ पुराना ज़माना जल रहा हैं

मेरी शाई’री में फ़नकारी कहाँ हैं
यार मुझ में होशयारी कहाँ हैं

दावा मौत का क्यू करते हो तुम
यार जीने में दुश्वारी कहाँ हैं

ज़िस्म मिट्टी हो जाता हैं मिट्टी
यार मैंने अभी जान हारी कहाँ हैं

मोहब्बत हैं तो बता दो ना तुम
यार आँखें सहल अंगारी कहाँ हैं

हल्के हल्के हाथों से उठाओ इसे
यार बताओ इश्क़ भारी कहाँ हैं

मैं पत्थरों से टकराता जाता हूँ
यार उसमें चिंगारी कहाँ हैं

ये तो बस मेरे दिल का तसव्वुर हैं
यार हम शायर हैं ब्रम्हचारी कहाँ हैं

इऱफान वो कोई औऱ होगा
यार अभी मेरी बारी कहा हैं

शायरों का अलग मिज़ाज़ होता हैं
इनका तो मोहब्बत इलाज़ होता हैं
चाहे जितना कर लो इनका इलाज
इनका मर्ज़ तो ला इलाज़ होता हैं

शाइरी लिखना मेरा ख़ुद को लिखना हैं
ये वो अल्फ़ाज़ हैं जिन में मेरा ज़माना हैं

हाय ये बारिश का मौसम
फ़िर उसकी याद आई हैं

फ़िर पढ़ा पुराना ख़त उसका
फ़िर जुदाई याद आई हैं

फूल सा मुरझा रहा हूं मैं
फ़िर कलाई मेरी टूट आई हैं

सुना, है इश्क़ करने जा रहे हो,
” सुनो”
“ज़िन्दा तो आओगे पर
जी नही पाओगें.

हँसते खेलते मौज मे जिंदगी कट रही थी
फिर मेरे लाइफ मे entry हुए इश्क़ की.

मजबूरियाँ ओढ़ के निकलता हू घर से आजकल
वरना शौक तो आज भी है, बारिशों मे भीगने का!.

धड़कने भी कमाल करती हैं,
आप नजर ना आए तो बढ़ जाती हैं,
आप नजर आए तो थम सी जाती हैं।

महफ़िल से घबराया तन्हाई में आया
सबसे मिलकर मैंने रुसवाई को पाया
रौशनी कही नहीं मिली हैं मुझ को
रफू कर आँखों को मैंने बिनाई को पाया

जिस्म की कुछ और अभी मिट्टी निकाल
और अभी गहराई से पानी निकाल

ऐ ख़ुदा मेरी रगों में दौड़ जा
शाख़-ए-दिल पर इक हरी पत्ती निकाल

भेज फिर से अपनी आवाज़ों का रिज़्क़
फिर मिरे सहरा से इक बस्ती निकाल

मुझ से साहिल की मोहब्बत छीन ले
मेरे घर के बीच इक नद्दी निकाल

मैं समुंदर की तहों में क़ैद हूँ
मेरे अंदर से कोई कश्ती निकाल

हमारे आगे हुस्न जमाल नहीं चलता
जो बेमिसाल हो वो मिसाल नहीं देता

वो बेवफ़ाई को अपना हुन्नर समझता हैं
हमारे आगे वफ़ा का सवाल नहीं रखता

हमारा दिल किसी की जागीर नहीं हैं
हमारे पास माल ओ मनाल नहीं चलता

उसे रिश्ता बनाने की आरज़ू नहीं हैं
मैं किसी की निशानी सभाल नहीं रखता

वो चोट देने में बहोत माहिर हैं
मैं उसके सामने दिल निकाल नहीं रखता

Best true Sad shayari

मेरे सब्र का तुम इम्तिहाँ न लो
मैं जरा सी बात का मलाल नहीं करता

मैं उसकी वफ़ाओं का भरम ले के चला हूँ
मैं उसकी मोहब्बत का अलम ले के चला हूँ
चलने नहीं देते थे मुझे उसके झूठे वादे
मुश्किल सफ़र में मैं उसके सितम ले के चला हूँ

मेरा नाम आया हैं वफ़ा की कहानी में
मुझे तलाश न करो जफ़ा की कहानी में

मैं एक दिन में हवा का रुख बदल दूगा
मुझे कैद न करो नाज़ो अदा की कहानी में

नज़र अंदाज़ मुझे कर नहीं सकता कोई
मुझे लिखा गया हैं जहने रसा की कहानी में

मेरा दिल तोड़ने वाले ने सोचा नहीं क़भी
उसका जिक्र आएगा सज़ा की कहानी में

इँतजार करते करते एक और रात🌌 बीत जायेगी,
पता हैं तुम नहीं आओगे😔 और ये तनहाई जीत जायेगी…।।😂😂😂😂😂

heart touching shayariemotional shayari
haryanvi status

अच्छा करते हैं वो लोग
जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते,

मर जाते हैं खामोशी से
मगर किसी को बदनाम नहीं करते।

सारा राशन मुफ़्त में दे दिया ,
तेरा हमनाम आया था मेरी दुकान पर।

🔥झूठों के शहर में अब सच्चे आने लगे है,
🔥आशिकों की महफिल में अब बच्चे आने लगे है!!..

🔥इन लड़कियों को रहम है कि इनकी खूबसूरती बढ़ गई है,
🔥मसला ये है कि फोन के कैमरे अच्छे आने लगे है!!!

निखरे थे वो भी इश्क़ था,
बिखरे है ये भी इश्क़ है!

याद मे नशा करता हु,
नशे मे याद करता हु!.

ख्वाहिश ये है की,
मुझे वो चाहिए ,
ज़ीद ये है की,
मुझे सिर्फ वो चाहिए,
और मोहब्बत इतनी है की,
मुझे वो बस खुश चाहिए….. ❤️❤️❤️

खुद के ही नाम को बार बार
पढ़ा मैने,
पुरानी चैटिंग मे मेरे नाम को
जिंदगी कहा था /………….

मेरे सीने मे दर्द💔 था
पगली समजी की मजाक है,
Attack आया तो सब clear हो गया—

Best true Sad shayari

भूल गए हैं चाहने वाले हमे,
या fir यादे भी महँगी कर दी है सरकार ने!!

बड़े होंगे तो जियेंगे अपने हिसाब से,
बचपन के इस ख्याल पर हसी आती है!.

मैं तो 🔥चिराग हू 👰तेरे आशियाने का !!
कभी ना कभी तो ⛈️बुझ जाऊंगा
आज शिकायत हैं 👩‍💼 तुझे👦 मेरे 💡उजाले से !!
कल 🌃अँधेरे में बहुत 🤔याद आऊंगा!