sad shayari on zindagi in Hindi {2021}

sad shayari on zindag इतने अलग थे हम दोनो कि…मेरे सन्नाटे भी शोर करते थेऔर उसकी तो बातें भी ख़ामोश रहती थी। नजर न आऊ तो ढूंढे उचक-उचक के…,,हो सामना तो देखे झिझक-झिझक के… नए इत्र की खुशबू दुप्पटे से आ रहीं हैंक्या तु किसी औऱ से मिल के आ रहीं हैं चहेरा खिला खिला … Read more